Uttar Pradesh Information Commission

  FAQs

जी हाँ, राज्य सरकार द्वारा या भारत सरकार द्वारा गठित ऐसे किसी भी आयोग से सूचना मांगने का अधिकार आम जनता को है।

सूचना का अधिकार अधिनियम की धारा-6 के अन्तर्गत् आवेदक को सूचना प्राप्त करने हेतु आवेदन रू0 10/-शुल्क के साथ जिस लोक प्राधिकरण से सूचना प्राप्त करनी है उसके राज्य लोक सूचना अधिकारी अथवा सहायक राज्य लोक सूचना अधिकारी को आवेदन प्रस्तुत करना चाहिए। उक्त आवेदन में मॉगी गई सूचना का स्पष्ट विवरण अंकित होना चाहिए।

प्रत्येक लोक प्राधिकरण के राज्य लोक सूचना अधिकारी अथवा सहायक राज्य लोक सूचना अधिकारी को आवेदन प्राप्त कराना चाहिए।

हां, आवेदन देने पर राज्य लोक सूचना अधिकारी या सहायक राज्य लोक सूचना अधिकारी को प्राप्ति रसीद भी आवेदक को देनी होगी।

आवेदन के साथ दस रूपये फीस रसीद के बदले नकद के रूप में या डिमांड ड्राफ्ट या बैंकर्स चेक या भारतीय डाक आदेश (पोस्टल आर्डर) के रूप में दी जानी चाहिए।

राज्य सरकार द्वारा “उ0 प्र0 सूचना का अधिकार नियमावली 2015“ के परिशिष्ट में सूचना प्राप्त करने हेतु प्रारुप सं0-2 दिया गया है जिसकी प्रतियाँ सम्बन्धित लोक प्राधिकरण जिससे सूचना वाँछित हो उसके राज्य लोक सूचना अधिकारी या सहायक राज्य लोक सूचना अधिकारी से प्राप्त की जा सकती है।

आम नागरिकों की सुविधा के लिए राज्य सरकार द्वारा आवेदन हेतु प्रारुप सं0-2 तैयार किया है लेकिन यदि कोई व्यक्ति सादे कागज पर आवेदन देता है तो वह भी मान्य होगा बशर्ते कि आवेदक प्रारुप सं0-2 में दिये गये विवरण को आवेदन में अंकित करें।

सूचना का अधिकार अधिनियम की धारा-6(2) के अनुसार सूचना मांगने के लिये आवेदक को कारण बताना आवश्यक नहीं है।

सूचना प्राप्त करने के लिये हिन्दी, अंग्रेजी या अपनी क्षेत्रीय भाषा में आवेदन किया जा सकता है।

अशक्त या निरक्षर व्यक्ति राज्य लोक सूचना अधिकारी या सहायक राज्य लोक सूचना अधिकारी से मौखिक रूप में यह बतायेगा कि उसे अमुक सूचना प्राप्त करनी है। राज्य लोक सूचना अधिकारी/सहायक राज्य लोक सूचना अधिकारी उसके द्वारा बताये गये तथ्यों को कागज पर लिखकर उसके अंगूठे का निशान लेकर आवेदन तैयार करेगें एवं अशक्त व्यक्ति को उन्हें पूरा सहयोग भी प्रदान करना है।

जी हॉ। यदि किसी आवेदक को फ्लॉपी या डिस्केट या काम्पैक्ट डिस्क में सूचना प्राप्त करनी है तो उसके लिए उसे रू0 50/- प्रति फ्लापी या डिस्केट या काम्पैक्ट डिस्क के लिये जमा करना होगा। यदि आवेदक मुद्रित रुप में अभिलेखों की छायाप्रति प्राप्त करना चाहता है तो उसे ऐसे मुद्रण का नियत मूल्य या प्रकाशन से उद्धरणों के लिये दो रुपये प्रतिपृष्ठ की दर से शुल्क जमा करना होगा। यदि ए3 या ए4 आकार से बड़े आकार के पेपर की छायाप्रति वाँछित है तो उसका वास्तविक व्यय जो राज्य लोक सूचना अधिकारी द्वारा बताया जाएगा, आवेदक को अतिरिक्त शुल्क के रुप में जमा करना होगा। अतिरिक्त फीस जमा करने का तरीका भी वही होगा जो आवेदन शुल्क जमा करने का है।